झाबुआ उपचुनाव बयानों से वार, दीपावली के बाद किसकी सरकार ?

झाबुआ उपचुनाव बयानों से वार, दीपावली के बाद किसकी सरकार ?

– बीजेपी प्रत्याशी को जिताते हैं तो दीपावली के बाद शिवराज सिंह चौहान एमपी में सीएम पद की शपथ लेंगे: गोपाल भार्गव
– गोपाल भार्गव झाबुआ में मुख्यमंत्री बनाने के मुंगेरीलाल के हसीन सपने दिखा रहे हैं: नरेन्द्र सलूजा

 

झाबुआ। भाजपा नेता गोपाल भार्गव का मध्य प्रदेश में सत्ता परिवर्तन को लेकर बड़ा बयान आया है। उनका दावा है कि शिवराज सिंह चौहान दिवाली के बाद एक बार फिर से एमपी की कमान संभालेंगे। ये बयान उन्होंने झाबुआ में युवा सम्मेलन के दौरान दिया है। जिस समय उन्होंने ये दावा किया उस वक्त शिवराज सिंह चौहान भी मौजूद थे। दरअसल, गोपाल भार्गव झाबुआ उपचुनाव में बीजेपी की प्रत्याशी भानू भूरिया के लिए चुनाव प्रचार करने गए थे। नेता प्रतिपक्ष भार्गव भानु भूरिया को अपने साथ खड़ाकर बोल रहे थे कि आप कर्जमाफी के पैसे दे नहीं रहे लेकिन भारत सरकार दे रही है। उन्होंने कहा कि अब वक्त आ गया है कि भानु भूरिया को जिताएं। भार्गव ने कहा कि अगर आप बीजेपी प्रत्याशी को जिताते हैं तो दीपावली के बाद शिवराज सिंह चौहान एमपी में सीएम पद की शपथ लेंगे। बता दें, इसके पहले बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय भी इस तरह का दावा कर चुके हैं। उन्होंने एक दिन पहले ही कहा था कि अगर झाबुआ जीतें तो कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार को गिरा देंगे।

यह मुंगेरीलाल के हसीन सपने की तरह: नरेन्द्र सलूजा

मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने कहा कि विधानसभा में नेताप्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के संबंध कितने प्रिय हैं ये जगजाहिर हैं। गोपाल भार्गव झाबुआ में जाकर उपचुनाव जीत कर फिर से शिवराज सिंह चौहान को मुख्यमंत्री बनाने के सपने दिखा रहे हैं। यह मुंगेरीलाल के हसीन सपने की तरह है। भाजपा में सभी नेता इस तरह के सपने देखते रहते हैं। इस बार वें पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को सपने दिखा रहे हैं कि झाबुआ उपचुनाव जीत कर उन्हें मुख्यमंत्री बनाया जाएगा।

श्री सलूजा ने कहा कि गोपाल भार्गव भलीभांति जानते हैं कि शिवराज जी मुख्यमंत्री बनने के प्रतिदिन सपने देखते हैं, भाषणों में भी इसकी इच्छा जाहिर करते हैं। इसलिए उनका मजाक उड़ाने के लिये उन्होंने यह बात कही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here