डीडीसीए अध्यक्ष पद का चुनाव सांसद के रूप में इस्तीफा देने के बाद ही लड़ सकते हैं गौतम गंभीर: डीडीसीए

नई दिल्ली ! दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) की एजीएम में मचे बवाल के बाद इस असोसिएशन के अध्यक्ष पद के लिए नामों के बारे में कयास लगाए जा रहे हैं। इस बीच ऐसी खबरें भी हैं कि पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर अध्यक्ष बन सकते हैं। हालांकि डीडीसीए सचिव विनोद तिहाड़ा ने साफ किया कि गंभीर तभी अध्यक्ष बन सकते हैं, जब सांसद के रूप में इस्तीफा दें।

डीडीसीए ने अपने अध्यक्ष पद का चुनाव कराने के लिए सोमवार को फरवरी में होने वाले विधानसभा चुनावों तक का समय मांगा। डीडीसीए ने साथ ही स्पष्ट कर दिया कि लोढा समिति की सिफारिशों के अनुसार, भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने के पात्र नहीं हैं।

इस राज्य क्रिकेट संघ की एजीएम के दौरान हाथापाई भी हुई थी। एक विडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गया था जिसे पूर्वी दिल्ली से लोकसभा सांसद गौतम गंभीर ने भी ट्वीट किया। उन्होंने साथ ही बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरभ गांगुली से मामले पर कार्रवाई करने की भी अपील की।

डीडीसीए सचिव विनाद तिहाड़ा ने यहां सोमवार को कहा, ‘लोकपाल दीपक वर्मा को अध्यक्ष पद का चुनाव कराने के लिए अतिरिक्त समय देने का आग्रह किया जाएगा। चुनाव जनवरी के अंत में होने हैं लेकिन आग्रह किया जाएगा कि यह फरवरी में दिल्ली में होने वाले विधानसभा चुनाव के बाद हों।’

रजत शर्मा के इस्तीफे के बाद खाली हुए अध्यक्ष पद के लिए गंभीर की उम्मीदवारी पर तिहाड़ा ने कहा, ‘दिल्ली क्रिकेट की सेवा के लिए उनका स्वागत है लेकिन वह अध्यक्ष तभी बन सकते हैं जब सांसद के रूप में इस्तीफा दें।’ रजत शर्मा ने पिछले महीने इस्तीफा दे दिया था जिससे डीडीसीए में नए अध्यक्ष की नियुक्ति के लिए चुनाव कराने की जरूरत पड़ी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here