पितृ मोक्ष अमावस्या 28 सितम्बर को

कार्यों में सफलता के लिए करें उपाय
पितृ पक्ष अमावस्या पर गाय, कुत्ता, चींटी, कौआ को भोजन करने से होता है लाभ

पंडित विश्वास शुक्ला
पितृपक्ष अमावस्या तिथि और मुहूर्त:
अमावस्या श्राद्ध शनिवार, सितम्बर 28, 2019 को
कुतुप मूहूर्त – दोपहर 11:25 बजे से 12:12 बजे तक
अवधि – 00 घण्टे 48 मिनट्स
रौहिण मूहूर्त – दोपहर12:12 बजे से 01:00 बजे तक
अवधि – 00 घण्टे 48 मिनट्स
अपराह्न काल – दोपहर 01:00 बजे से 03:22 बजे तक
अवधि – 02 घण्टे 23 मिनट्स
अमावस्या तिथि प्रारम्भ – 28 सितम्बर, 2019 को रात 03:46 बजे
अमावस्या तिथि समाप्त – 28 सितम्बर , 2019 को रात 11:56 बजे

 

पितृ पक्ष का आखिरी दिन 28 सितंबर को है यानी कि इस दिन श्राद्ध पक्ष खत्म हो जायेंगे। माना जाता है कि पितृ मोक्ष अमावस्या पर श्राद्ध करने से सभी पूर्वजों की आत्मा को शांति मिल जाती है।
ये आखिरी दिन काफी महत्वपूर्ण होता है क्योंकि इस दिन भूल चूक या किसी कारण छूटे हुए श्राद्ध एक साथ कर दिये जाते हैं।

पितृ पक्ष अमावस्या पर गाय, कुत्ता, चींटी, कौआ और देवताओं को भोजन करा पितरों की करें विदाई

मान्यता है कि पितृ पक्ष के दौरान पितर धरती पर आते हैं और अमावस्या के दिन उनकी विदाई की जाती है। इसलिए इस दिन धरती पर आए सभी पितरों की विधिवत विदाई करनी चाहिए जिससे उनकी आत्मा को शांति मिले। इसलिए पितृ अमावस्या श्राद्ध वाले दिन साफ सुथरे होकर पितरों के लिए बिना लहसुन प्याज का भोजन तैयार कर लें। ध्यान रखें कि भोजन कराने और श्राद्ध का समय मध्याह्न काल यानी दोपहर का होता है। इस दिन ब्राह्मण को भोजन कराया जाता है लेकिन उससे पूर्व गाय, कुत्ता, चींटी, कौआ और देवताओं के लिए भोजन निकाल दें। इसके बाद हवन करें। तब ब्राह्मण को भोजन कराकर श्रद्धापूर्वक दक्षिणा देकर विदा करें। इसके बाद घर के सभी सदस्य एक साथ मिलकर भोजन करें। पितरों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करें।

पितृ मोक्ष अमावस्या के दिन दान करना फलदायी होता है

इस तिथि में धरती पर आए पितरों को याद कर उन्हें विदाई की जाती है। इस दिन का इतना महत्व है कि अगर पूरे पितृ पक्ष में पितरों का तर्पण नहीं किया जा सका हो तो सिर्फ अमावस्या के दिन उन्हें याद कर दान करने और गरीबों को भोजन कराने से पितरों को शांति मिल जाती है। मान्यता है कि पितृ मोक्ष अमावस्या के दिन दान करना फलदायी होता है। साथ ही इस दिन राहु दोष से भी मुक्ति पाई जा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here